खुद को खेल से भी बड़ा समझते हैं ये 3 भारतीय खिलाड़ी, हमेशा नाक पर ही रहता है गुस्सा

खेल हो या और कोई काम अगर आप उसकी इज़्ज़त नहीं करगें तो आपको भी उस चीज़ से ज़्यादा इज़्ज़त हासिल नहीं हो पाएगी. ऐसे ही कुछ भारतीय क्रिकेटर हैं जो खेल को खेल नहीं समझते हैं और अपने में ही मगन रहते हैं. टीम में खेलने वाला हर खिलाड़ी अपनी जी-जान लगाता है पसीना बहाता है महेनत करता है, लेकिन कुछ खिलाड़ी खेल को तव्ज्जो नहीं देते हैं. हम आपको ऐसे ही तीन खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं.

1. हरभजन सिंह

पूर्व भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह इस लिस्ट में नंबर पर आकर खड़े होते हैं. 41 साल के हरभजन अब क्रिकेट से दूर हैं लेकिन जब वो खेला करते थे, तो उनके अंदर एक अलग ही भावना देखने को मिलती थी. कई बार ऐसा देखा गया है कि हरभजन बिना प्रैक्टिस के ही आईपीएल (IPL) में अपनी टीम की तरफ से खेला करते थे.

इस बात को सुनकर यही लगता है कि हरभजन को अपने खेल पर बहुत धमंड था, जोकि किसी भी खिलाड़ी के लिए अच्छी बात नहीं होती है.

2. हार्दिक पांड्या

हालही में इंडिया टीम के कप्तान घोषित किए गए हार्दिक पांड्या (HARDIK PANDYA) अपनी गेंदबाज़ी को लेकर काफी चर्चाओं में रहते हैं. हालांकि इस आईपीएल (IPL) उन्होंने अच्छी गेंदबाज़ी करवाई थी लेकिन इससे पहले वो अपनी गेंदबाज़ी पर बिल्कुल ध्यान नहीं दे रहे थे और यही वजह थी कि वो चोटिल हो गए थे.

एक वक़्त तो ऐसा लगने लगा था कि अब हार्दिक पांड्या का खेल खत्म हो चुका है लेकिन उन्होंने अच्छी तरह से दुबारा वापसी की है. हार्दिक पांड्या ने खुद को घरेलू क्रिकेट से काफी दूर रखा था, उन्हें लगने लगा था कि वो सिर्फ इंटरनेशनल मुकाबले ही खेलेंगे.

3. क्रुणाल पांड्या

हार्दिक पांड्या के बड़े भाई क्रुणाल पांड्या अक्सर कोई न विवाद करते रहते हैं. सैय्यद मुशताक अली ट्रॉफी मे क्रुणाल पांड्या  ने दीपक हुड्डा से कुछ उलटा सीधा कहे दिया था, जिसके बाद दीपक हुड्डा ने उन पर तमाम गंभीर आरोप लगाए थे.

क्रुणाल पांड्या ऐसे खिलाड़ी हैं, जो अक्सर विवादों में घिरते रहते हैं. जूनियर्स के साथ बदसलूकी करना यही दिखाता है कि क्रुणाल अपने आप को बहुत बड़ा खिलाड़ी मानते हैं.

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.