पूरे करियर में एशिया के इस दिग्गज गेंदबाज के सामने बल्लेबाजी करने से डरते थे महेला जयवर्धने, पहली बार लिया नाम

श्रीलंका के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने को श्रीलंका (SRI LANKA)के सबसे सफल कप्तानों की श्रेणी में रखा जाता है। महेला जयवर्धने (MAHELA JAYWARDENA ) ने अपने हुनर के दम पर पूरे विश्वभर में नाम कमाया है और श्रीलंका के क्रिकेट स्तर को काफी ऊंचा उठाया था। हाल ही में आईसीसी के शो में उनसे उनके करियर से जुड़े कई सवाल पूछे गए तब उन्होंने अपने समाने आने वाले सबसे कठिन गेंदबाज के बारे में बताया।

जिसमें उनका मानना था कि उन्होंने अपने पूरे क्रिकेट करियर में वसीम अकरम से ज्यादा मुश्किल गेंदबाजी का सामना नहीं किया है। साथ ही उन्होंने वसीम अकरम की गेंदबाजी की काफी तारीफ भी की है। जानिए क्या कहा श्रीलंका के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने ने वसीम अकरम के बारे में…

वसीम अकरम सबसे कठिन गेंदबाज : महेला जयवर्धने

पाकिस्तान के पूर्व गेंदबाज वसीम अकरम जोकि विश्वभर में अपनी सटीक गेंदबाजी के लिए प्रसिद्ध रह चुके हैं। उन्होंने अपनी गेंदबाजी में विश्व भर पाकिस्तानी क्रिकेट टीम को काफी मैच जिताए हैं। वसीम अकरम को अपने करियर में सबसे मुश्किल खिलाड़ी मानते हैं महेला जयवर्धने। वसीम अकरम को वर्ल्ड क्रिकेट के सबसे शानदार रहे बाएं हाथ के स्विंग गेंदबाजों की दिग्गज खिलाड़ियों में किया जाता है। बता दें वसीम अकरम ने वनडे इंटरनेशनल और टेस्ट में 916 विकेट अपने नाम कर लिए हैं।

वसीम अकरम के विषय में महेला जयवर्धने ने कहा कि अब तक उन्होंने जितने भी गेंदबाजों का समाना किया है। उन सभी गेंदबाजों में वसीम अकरम सबसे कठिन गेंदबाज रहें हैं। चाहे कोई भी समय हो वो अपनी सबसे बेस्ट गेंदबाजी करतें हैं।  जयवर्धने ने इस बात का जिक्र किया कि जब उन्होंने डेब्यू किया था। तब वसीम अकरम आपके कैरियर के शिखर पर थे। क्रिकेट का कोई भी फॉर्मेट क्यों ना हो, अपनी गेंद से बल्लेबाजों के लिए उन्होंने मुश्किल ही खड़ी की है। अपनी तेज गेंदबाजी के एक्शन के चलते वो दिन के किसी भी समय वो गेंदबाज को चकमा दे सकते थे।

वसीम अकरम की गेंदबाजी की काफी तारीफ की

महेला जयवर्धने ने श्रीलंका के लिए काफी अच्छी अच्छी पारियां खेली है। लेकिन वसीम अकरम के सामने उनकी बल्लेबाजी कोई खास कमाल नही कर पाती थी, ऐसा खिलाड़ी का कहना है।  जयवर्धने ने अपने कैरियर में 26 हजार के आस पास रन बनाए हैं। लेकिन उनका कहना है कि वसीम अकरम की गेंदबाजी से सभी डरते थे। वो अगर अपनी क्षमता के अनुरूप गेंद डालने लगें तो किसी भी समय बल्लेबाज को चकमा दे सकते थे।  जयवर्धने ने आगे कहा कि वसीम अकरम के पास मैच में नई गेंद होती या पुरानी गेंद दोनों ही तरफ गेंद को वसीम अकरम को स्विंग कराना आता था और उनकी इसी घातक गेंदबाजी की चलते उन्होंने पाकिस्तान टीम को काफी मैच जिताए हैं। विश्व का कोई भी बल्लेबाज उनकी गेंदबाजी एक आगे घुटने टेक दिया सकता था।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.