हड़ताल के वजह से एसटी को हुआ हजारों करोड़ का नुकसान, कर्मचारियों से की गई अपील

मुंबई: राज्य सरकार में विलय और दूसरे अन्य मांगों को लेकर पिछले 165 दिनों से हड़ताल पे बैठे । एसटी कर्मचारियों की वजह से राज्य परिवहन निगम को भरी नुकसान हो रहा है राज्य परिवहन निगम को करीब 2500 करोड़ रुपए से भी ज्यादा की हानि हो चुकी है। परिवहन निगम के अधिकारियों के मुताबिक , पहले से ही बहुत हानि हो गई है ।

कोरोना के कारण भी हुई हानि

कोरोना काल में बसों का आना जाना बंद कर दिया गया था वही बसें न चल पाने से परिवहन निगम को भारी नुकसान हुआ था। वही फिर बसों का हड़ताल शुरू हो गया जिसकी वजह से जहां ग्रामीण भागों में जनजीन पर भारी असर देखने को मिला है। यह बाएं पांच महीने खड़ी रही जिसकी वजह से भरी संख्या में नुकसान हुआ है। परिवहन निगम के वरिष्ठ अधिकारियों के अनुसार, पिछले कुछ महीनों की मुकाबले अप्रैल में रॉयल्टी में बढ़ोतरी हुई है।

वापस काम करने आ रहे है कर्मचारी

अधिकारियों ने बताया है पिछले 10 दिनों से कर्मचारियों के काम पर लौटने से एसटी का रॉयल्टी में इजाफा हुआ है। प्रत्येक स्टॉफ को संपर्क कर , फेसबुक, व्हाट्सएप के जरिए काम पर आने की रिक्वेस्ट किया जा रहा है। वही इस अपील का असर भी दिख रहा है। बता दें कर्मचारी भी काम पर लौट रहे हैं, इसका असर रॉयल्टी में इजाफे से पता चल रहा है

एसटी जल्द ही पूर्ववत किया: अनिल परब

टूरिज्म मिनिस्टर एड. अनिल परब ने कहा कि एसटी को जल्द ही पूर्ववत किया जाएगा । उच्च न्यायालय ने कर्मचारियों को निर्देश दिया है हाई कोर्टने निर्देश में कहा है कि कर्मचारी 22 अप्रैल तक काम पर वापस आ जाए।

परिवहन निगम के अध्यक्ष, एड. अनिल परब और अधिकारियों ने मंत्रालय स्थित कार्यालय में बैठक की। उन्होंने कहा कि हड़ताल हुआ जिसके कारण पांच महीने से एसटी बसें बंद पड़ी हैं। इनमें से कई इस वाहन है जो खराब पड़ चुके हैं जिसके लिए आवश्यक धन उपलब्ध कराना होगा ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.