जीजा के भाई को दिल दे बैठी साली, रात में अकेले में मिल रहे थे दोनों, घरवालों की पड़ गई नजर

कहते हैं जोड़ियां आसमान में बना करती हैं। किसके जीवन में कौन लिखा हुआ है इसका फैसला पहले ही हो चुका है। हालांकि इस बात में कितना सच है, इसे तो कोई नहीं जानता है। फिर भी कई बार ऐसी खबरें सामने आती हैं जिनको जानने के बाद इस कहावत पर थोड़ा विश्वास हो ही जाता है। कुछ ऐसे ही एक खबर बिहार से आई है।

बिहार में रहने वाले जीजा के घर साली पहुंची। उनके घर में बर्थडे पार्टी थी जिसमें शामिल होने के लिए साली भी आई थी। यहां पर उसे जीजा के भाई से प्यार हो गया। दोनों अकेले में रात में मिल रहे थे कि अचानक घरवालों ने देख लिया। इसके बाद बड़ी दिलचस्प घटना हुई जिसको जानकर आप भी यकीन नहीं कर पाएंगे।

पटना से सामने आई ये खबर
जीजा के भाई और साली की प्रेम कहानी की ये खबर बिहार के पटना से सामने आई है। यहां नौबतपुर इलाके में ये घटना हुई। करणपुरा गांव में मनीष कुमार रहता है। उसके घर पर जन्मदिन की पार्टी थी। इस पार्टी में सात दिन पहले उसके भाई की साली दानापुर नासरीगंज से पहुंची थी। यहां पर उसकी लव स्टोरी शुरू हो गई।

मनीष कुमार और साली की घर में ही मुलाकात हुई। दोनों एक दूसरे से काफी बातचीत करने लगे। अचानक दोनों के बीच प्यार परवान चढ़ गया। लड़की ने मनीष कुमार से शादी करने का फैसला कर लिया। उसने मनीष को ये बात बताई तो वो भी राजी हो गया। फिर दोनों ने ही शादी का फैसला कर लिया लेकिन अभी बहुत कुछ होना बाकी था।

अकेले में मिले तो घरवालों की पड़ी नजर
साली आई तो थी बर्थ डे पार्टी मनाने लेकिन वो यहां पर अपने जीवनसाथी का चुनाव कर बैठी। दोनों ने एक दूसरे के साथ ही जीवन बिताने की कसम खा ली और मरते दम तक साथ देने का वादा भी कर लिया। हालांकि दोनों के बीच प्यार परवान चढ़ रहा था, इसकी खबर घरवालों को अबतक खबर नहीं लगी थी।

एक दिन इस दोनों ने रात में मिलने का फैसला किया। तय समय में दोनों घर के पीछे मिलने पहुंचे। उनको लगा कि अंधेरे की वजह से कोई उनको देख नहीं सकेगा। हालांकि वो गलत थे क्योंकि मनीष के घरवालों की नजर दोनों पर पड़ गई। इसके बाद तो पूरे घर में हड़कंप मच गया। दोनों को रंगे हाथ घरवालों ने पकड़ लिया था।

ले लिया ऐसा फैसला, गांव में होने लगी चर्चा
मनीष के घरवालों ने दोनों को रंगेहाथ पकड़ने के बाद बड़ा फैसला ले लिया। इन लोगों ने अगले ही दिन मुखिया और सरपंच को बुला लिया। सबने मिलकर फैसला किया कि दोनों की शादी कर दी जाए। अब सबसे बड़ी बात ये थी कि इन दिनों खरमास चल रहे हैं। ऐसे में शादी नहीं हो सकती है फिर क्या किया जाए।

फैसला हुआ कि खरमास में ही दोनों प्रेमियों की शादी करवा दी जाए। इसके बाद गांव के शिव मंदिर में ही आयोजन किया गया। पंडित ने दोनों परिवारों के लोगों को बुलाया और इनकी शादी करवा दी। बिना मुहूर्त की शादी देखने के लिए गांव के भी लोग वहां पहुंचे। उनकी शादी गांव में चर्चा का विषय बनी हुई है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.